Blockquote

Followers

29 October, 2016

दीपक - मुक्तक


*****
मैं   अँधेरों   से  लड़ा  हूँ
आँधियों से  भी खड़ा हूँ
तुच्छ मत कहना मुझे तू
मोतियों  से  मैं  जड़ा हूं  !!!
******************
मुरारि पचलंगिया

Loading...