Blockquote

Followers

27 November, 2014

झुकना – नज़र निल्को की

वो शख्स जो
तुमसे झुक का
मिला हो
शायद
वह तुमसे
कई गुना बड़ा हो ..!
उसकी आँखों में
तुम्हे लिए
जो खास बात है
वह एक
किसी के लिए
मिशाल है ...!
मत हस
उसके इस
चाल चलन पर
वह गई गुना
समझदार है तुमसे ...!
तुमने हस दिया
उसकी बुद्दिमता पर
लेकिन वह
सफल हो गया
अपनी इरादों पर.....!
तुमसे हस कर
जो कह दिया
ठीक है
उसने सचमुच में ही
ठीक कर दिया .....!
एक अनोखे तरीके से
अपना और तुम्हारा
काम कर गया ....!



एम के पाण्डेय ‘निल्को’

आप मेरे ब्लाग पर पधारें व अपने अमूल्य सुझावों से मेरा मार्गदर्शऩ व उत्साहवर्द्धऩ करें, और ब्लॉग पसंद आवे तो कृपया उसे अपना समर्थन भी अवश्य प्रदान करें! धन्यवाद .........!
Loading...