Blockquote

Followers

07 July, 2012

एक सौ बीस साल पहले बना एक फिलीपीनी क्रांतिकारी संगठन

कतिपुनान एक फिलीपीनी गुप्त क्रांतिकारी संगठन था, जिसकी स्थापना आज से ठीक एक सौ बीस साल पहले यानी ७ जुलाई १८९२ को आंद्रेस बोनिफेसियो, त्योदोरा प्लाता जैसे उग्र राष्ट्रवादियों ने की थी। इसके गठन का मुख्य मकसद सशस्त्र क्रांति के जरिये अपने मुल्क को स्पेन से आजाद कराना था। इस संगठन का पूरा नाम 'कतास्तासन कगलांग-गलांग ना कतिपुनान नांग मांगा अनक नांग बायन' था, जिसका आशय है- 'राष्ट्र के लोगों का सर्वोच्च व बेहद सम्मानित संगठन'। पहले इस संगठन में सिर्फ पुरुषों को ही शामिल किया जाता था, लेकिन बाद में महिलाओं को भी शामिल किया जाने लगा। इसका 'आंग कलायान' के नाम से अपना प्रकाशन था, जिसने मार्च १८९६ में अपना पहला और आखिरी प्रिंट प्रकाशित किया। क्रांति की योजना के तहत मई १८९६ में इसके कुछ प्रतिनिधि सदस्यों को फंड व सैन्य साजो-सामान जुटाने के लिए जापान के सम्राट के पास भेजा गया था। इसके सदस्य त्योदोरो पातिनो द्वारा एक अनाथालय में काम करने वाली अपनी बहन को 'कतिपुनान' की गुप्त गतिविधियों के बारे में बताने के बाद स्पेनिश प्राधिकारियों को इसके अस्तित्व के बारे में पता चल गया। २६ अगस्त १८९६ को बोनिफेसियो और उनके आदमियों ने 'क्राय ऑफ बालिंतावाक' के दौरान अपने कम्युनिटी टैक्स सर्टिफिकेट्स फाड़ते हुए क्रांति का बिगुल बजा दिया।
Loading...